बैना, बायना या बेन बिहार की प्रमुख प्रथा-परम्पराओं का प्रमुख अंग है।

मिथिलांचल में दुल्हन के आने के दिनों बाद भरफोड़ी एक परंपरा है, और इस दिन झिल्ली या एहिभफ्फर ही प्रमुख सन्देश माना जाता है।


baina bayna ya ben bihar kee prmukh prtha prmpraon ka prmukh ang hai jpg

बैना, बायना या बेन बिहार की प्रमुख प्रथा-परम्पराओं का प्रमुख अंग है।

बैना, बायना या बेन…..
बायना यानी विवाह के बाद वधू पक्ष की तरफ से आई मिठाई को सबको उपहार स्वरूप बांटना।

बिहार में खासकर मिथिलांचल में विवाह में बताशा, खाझा, बालूशाही, लड्डू, ढूंढी, झिल्ली या एहिभफ्फर मुख्य मिठाई होती है। 

विवाह के दूसरे दिन गृहस्वामिनी बहु के घर से आए एक सुन्दर से डलवा में मिठाई और एक साड़ी रखकर ऊपर से क्रोशिए के बने सुंदर से थालपोश से ढंक कर पूरे गांव में मिठाई बंटवाती हैं। 

जितनी महिलाएं दुल्हन की मुंह दिखाई करने आती हैं, उनको भी बायना दिया जाता है। विवाह में आए रिश्तेदार जब घर वापस जाने लगते हैं तब उनको मिठाई का बायना देकर विदा किया जाता है। सारी मिठाई एक तरफ और बायना की मिठाई खाने का आनन्द एक तरफ होता है। 

जब घर में बहु आती है, तब घर के लड़के-लड़कियों का सबसे ज्यादा ध्यान मिठाई के डिब्बे खोलने पर रहता है, क्योंकि गत्ते पर, गत्ते के अन्दर खूब शायरी और दूल्हे के भाई, बहन, बुआ, समधी, समधन के लिए गाली लिखी होती है। 

ढूंढी बनाते समय उसके अंदर सिक्के, छोटे आलू, शायरी लिखकर पर्ची डाल दिया जाता है। सारे लोग उन शायरियों और मजाक में लिखी गालियों को पढ़-पढ़ कर हंसते है। घर में खूब हंसी-मजाक का आंनदमय माहौल बना रहता है।

खास बात यह है कि आज के दौर में भी मिथिलांचल में यह प्रथा प्रचलन में है और आज के दौर के लोग भी इसका आनंद उठाते हैं।

Sitesh Choudhary

Follow Us On Facebook || Subscribe Us On Youtube || Find Us On Instagram ||

Check Us On Pinterest || Follow Us On X (Tweeter)

विशेष जानकारी लेल संपर्क करू


Like it? Share with your friends!

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
3
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win
Sitesh Choudhary
नमस्कार मैथिल, हम छी सीतेश चौधरी। हम कंटेंट क्रिएटर छी आ डिजिटल एडवर्टाइजमेंट एजेंसीक संचालक सेहो। पत्रकारिता सऽ लगाव सेहो राखैत छी। एहि माध्यमे हमर प्रयासमे समस्त अपन मिथिलांगन परिवारक सहयोग अपेक्षित अछि। धन्यवाद।

One Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Choose A Format
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
Poll
Voting to make decisions or determine opinions